शुक्रवार, 2 दिसंबर 2011

दोस्ती......



दोस्ती

एहसास के दामन में आंसू गिराकर देखो.
दोस्ती कितनी सच्ची है आजमाकर देखो,
आपको भूलकर क्या होगी दिल कि हालात
किसी आईने पर पत्थर गिराकर देखो,
०००००००
हम नजरो से दूर है आखो से नहीं
हम ख्याबो से दूर है ख्यालो से नहीं,
हम दिल से दूर है,धडकन से नहीं
हम आप से दूर है आपकी यादो से नहीं,
०००००००
करीब से तुझे जाना तो अपना पाया
तुझे दोस्ती में आजमाया तो अपना पाया
तुझे क्या नाम दूं ये समझ नहीं आया
दोस्ती जिंदगी है या अपना साया,
०००००००
दोस्ती एक शब्द नहीं जो कहा जाए
रूह नहीं जो मिट जाए,
सफर नहीं जो मुकाम पाए
दोस्ती तो वो एहसास है,
जिसके लिए जिया जाए
तो जिंदगी भी कम पड़ जाए,
०००००००
दोस्ती और बारिश दोनों एक से होते है
वो हमेशा यादगार होते है,
फर्क सिर्फ इतना है कि
बारिश के साथ रहकर तन भीग जाता है,
और दोस्त से दूर रहकर आखे भीग जाती है,
===================================
dheerendra..

38 टिप्‍पणियां:

  1. हम नजरो से दूर है आखो से नहीं
    हम ख्याबो से दूर है ख्यालो से नहीं
    हम दिल से दूर है,धडकन से नहीं
    हम आप से दूर है आपकी यादो से नहीं... komal bhaavo ki ek khubsurat abhivaykti....

    उत्तर देंहटाएं
  2. दोस्ती सच्ची हो तो उससे बेहतर कुछ नहीं हो सकता है।

    उत्तर देंहटाएं
  3. दोस्ती एक शब्द नहीं जो कहा जाए
    रूह नहीं जो मिट जाए,
    सफर नहीं जो मुकाम पाए
    दोस्ती तो वो एहसास है,
    जिसके लिए जिया जाए
    तो जिंदगी भी कम पड़ जाए,...koi shak nahi

    उत्तर देंहटाएं
  4. वाह...बेजोड़ भावाभिव्यक्ति...बधाई स्वीकारें

    नीरज

    उत्तर देंहटाएं
  5. हम नजरो से दूर है आखो से नहीं
    हम ख्याबो से दूर है ख्यालो से नहीं,
    हम दिल से दूर है,धडकन से नहीं
    हम आप से दूर है आपकी यादो से नहीं ..

    लाजवाब हैं सभी मुक्तक .. एक से बढ़ के एक ... क्या कमाल किया है ...

    उत्तर देंहटाएं
  6. पाक दामन पाकीज़ा रचना मनोहर और आश्वस्त करती जीवन के प्रति उम्मीद पैदा करती .वरना बेगानों की इस दुनिया में रख्खा क्या है .

    उत्तर देंहटाएं
  7. सभी महानुभावों का दिल से आभार,...
    मेरा मुख्य ब्लॉग "काव्यांजलि"है आपका स्वागत है

    उत्तर देंहटाएं
  8. दोस्ती के सुंदर चित्र, सभी एक से बढ़कर एक.

    उत्तर देंहटाएं
  9. दोस्ती के शब्दचित्र मन को भा गए. बहुत खूब.

    उत्तर देंहटाएं
  10. सुन्दर प्रस्तुति के लिए बहुत बहुत आभार

    उत्तर देंहटाएं
  11. आपने दोस्ती पर बहुत ही सुंदर लिखा है .यह वो रिस्ता है की जो बयां नहीं किया जा सकता ,,,,,,,,,,,,,,,,,

    उत्तर देंहटाएं
  12. आपके इस सुन्दर प्रविष्टि की चर्चा आज दिनांक 19-12-2011 को सोमवारीय चर्चा मंच पर भी होगी। सूचनार्थ

    उत्तर देंहटाएं
  13. दोस्ती एक शब्द नहीं जो कहा जाए
    रूह नहीं जो मिट जाए,
    सफर नहीं जो मुकाम पाए
    दोस्ती तो वो एहसास है,
    जिसके लिए जिया जाए
    तो जिंदगी भी कम पड़ जाए,bahut sahi baat

    उत्तर देंहटाएं
  14. तभी मैं सोचूं कि क्यों कई लोग पत्नी पर कम और दोस्तों पर समय ज्यादा देते देखे गए हैं!

    उत्तर देंहटाएं
  15. sundar rachna .sahi likha hae ki dosti se badhakar koi rishta nahin hae

    उत्तर देंहटाएं
  16. बारिश के साथ रहकर तन भीग जाता है,
    और दोस्त से दूर रहकर आखे भीग जाती है,...

    कमाल कमाल कमाल..!

    उत्तर देंहटाएं
  17. हम नजरो से दूर है आखो से नहीं
    हम ख्याबो से दूर है ख्यालो से नहीं,
    हम दिल से दूर है,धडकन से नहीं
    हम आप से दूर है आपकी यादो से नहीं,

    बहुत ही अच्‍छी प्रस्‍तुति ।
    मेरा शौक
    मेरे पोस्ट में आपका इंतजार है,नई रोशनी में सारा जग जगमगा गया |
    नववर्ष की हार्दिक शुभकामनाएँ.
    * नया साल मुबारक हो आप सभी को *

    उत्तर देंहटाएं
  18. दोस्ती तो वो एहसास है,
    जिसके लिए जिया जाए
    तो जिंदगी भी कम पड़ जाए,waah bahut badhiyaa.

    उत्तर देंहटाएं
  19. हम नजरो से दूर है आखो से नहीं
    हम ख्याबो से दूर है ख्यालो से नहीं,
    हम दिल से दूर है,धडकन से नहीं
    हम आप से दूर है आपकी यादो से नहीं,khoobsurat zazvat.....

    उत्तर देंहटाएं
  20. बहोत अच्छे ।

    नया हिंदी ब्लॉग

    http://http://hindidunia.wordpress.com/

    उत्तर देंहटाएं
  21. dosti ki sabhi lekhni umda ..bahut accha laga aapki post par aakar .....aapki doosari post fuhar nahi khul rahai hai .

    उत्तर देंहटाएं
  22. wwah! kya baat hai dosti ka kitna sundar varnan kiya ,bahut hi umda rachna....bdhaai sweekaren

    उत्तर देंहटाएं